International Tiger Day: A tribute…

“शेर हूँ, शिकार नहीं!”

दिल टटोल के देखो, एक बार तो चाहा होगा,

देखना है उसे, खुद से कहा होगा,

राजा जंगल का सही, पर मन पर एक बार तो छाया होगा,

उसकी एक झलक देखने, सरपट उसकी ओर भाग होगा।

जंगल के असीम शांति में, खुद को कामिल रखता है,

धारियों में छुपा उसका बदन, शान से सबसे कहता है,

“शेर हूँ, शिकार नहीं! शिकारी हूँ, बाग़ी नहीं!”

माटी में रहता हूँ, पर वजूद मेरा माटी नहीं!”

“अक्स बनकर आता हूँ, रक़्स है जुनून का,

ना शिकवा ना ग़िला, बस मंज़र मेरा सुकून सा।”

इतनी सी कहानी उसकी, सुनी उसकी ज़बानी,

जब बलखाके चला सामने, मस्त-मौज रवानी।

-Poulomi Mukherjee Reddy

As the population of tigers rise in India, we the Indians are proudly celebrating the ‘International Tiger’s Day.’ These big cats are not only adorable but are amazing to be clicked. India has 50 tiger reserves in the nation today and proudly consists of 70% of the world’s total population of the tigers. The Western Ghats amongst all has the most proximate tiger population of approximate 724 tigers in the zone. The population as per reports now stands at 2967 in the year 2019.

PC: Andreas Breitling

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *